श्रीसुन्‍दरकाण्‍ड पाठ श्रृंखला ''रजत जयन्‍ती महोत्‍सव'' - सोमवार-मंगलवार दिनांक 26-27 अक्‍टूबर, 2015 को



सभी भक्तजनों को जय सियारामजी की। सर्वप्रथम युवा जन सेवा संघ के फेसबुक पेज को लाईक करने वाले सभी भक्‍तों का आभार, जिनके प्रेम से हमें प्रेरणा मिलती है प्रभु मार्ग पर निरंतर बढ़ते रहने की। आप सभी को ज्ञात ही है इस वर्ष 27 अक्‍टूबर को प्रत्‍येक शनिवार मंदिर श्रीवीरहनुमानजी में होने वाले सुन्‍दरकाण्‍ड पाठ की सतत श्रृंखला 25 वर्ष पूर्ण कर रही है, इसीलिए इस वर्ष को रजत जयंती वर्ष के रूप में मना रहे हैं। रजत जयंती महोत्‍सव दो दिवसीय रखा जा रहा है, जिसमें सोमवार 26 अक्‍टूबर को अतिपावन पुनित महारास की रात्रि है 'शरद् पूर्णिमा' और अत्‍यंत हर्ष का विषय है कि इस दिन श्रीकिशोरीजू के चरणानुरागी व लाडले श्रीगोविन्‍दजी भार्गव ने संकीर्तन हेतु समय प्रदान कर दिया है, जिनकी मधुर वाणी द्वारा श्रीश्‍यामाश्‍याम के भावपूर्ण संकीर्तनामृत रस पान का अवसर हमें मिलेगा। दूसरे दिन हमारे बालाजीमहाराज के प्रिय मंगलवार पूर्णिमा दिनांक 27 अक्‍टूबर को विशाल संगीतमय सुन्‍दरकाण्‍ड का आयोजन होगा। जिसमें श्रीवीरहनुमानजी महाराज के विशेषातिविशेष श्रृंगार दर्शन के साथ-साथ दिव्‍य ज्‍योति दर्शन एवं सामूहिक आरती की विशेष व्‍यवस्‍था की जायेगी। अत: इस महोत्‍सव को अविस्‍मरणीय बनाने हेतु आप सभी का तन-मन से सहयोग अभी से अपेक्षित है। साथ ही विनती है कि आप सभी भक्‍तगण अपने सुझाव भी अवश्‍य प्रेेषित करें ताकि इस अायोजन को और अधिक भव्‍य बनाने हेतु रूपरेखा तैयार कर अमल किया जा सके।

आपके सुझावों की प्रतीक्षा एवं सहयोग की अपेक्षा के साथ युवा जन सेवा संघ ।। जयश्रीराम ।।

श्रीराधागोविन्‍द जन्‍माष्‍टमी महोत्‍सव 2015 पर ''श्रीराम नाम - गोविन्‍द के धाम'' - रविवार दिनांक 30 अगस्‍त, 2015

श्रीराधागोविन्‍दजन्‍माष्‍टमी महोत्‍सव के उपलक्ष्‍य में ठिकाना श्रीराधागोविन्‍ददेवजी में आयोजित होने वाले विभिन्‍न भक्ति कार्यक्रमान्‍तर्गत, रविवार, दिनांक 30 अगस्‍त, 2015 को दोपहर में हमारे अपने श्रीराधागोविन्‍द को सुन्‍दरकाण्‍ड पाठ सुनाने का सुअवसर युवा जन सेवा संघ परिवार को प्राप्‍त हुआ। इस अवसर श्रीमंदिर के प्रांगण में दोपहर 12:30 बजे प्रारम्‍भ हुए कार्यक्रम में लगभग 500-600 भक्‍तजनों ने सामूहिक संगीतमय सुन्‍दरकाण्‍ड का पाठ किया। प्रारम्‍भ में विघ्‍नविनायक श्रीगणपति के आह्वान उपरान्‍त भक्‍त शिरोमणी श्री हनुमानजी महाराज को भजन के माध्‍यम से आमंत्रित किया। तद़परान्‍त विभिन्‍न राग-रागनियों का प्रयोग करते हुए श्रीसुन्‍दरकाण्‍डजी के पाठ लगभग 4 बजे पूर्ण हुए।
श्रीठाकुरजी राधागोविन्‍ददेवजी के आशीर्वाद स्‍वरूप मंदिर महंत पूज्‍य श्री अंजन कुमारजी गोस्‍वामी के पुत्र श्री मानस गोस्‍वामीजी ने सभी सदस्‍यों को ठिकाना श्रीगोविन्‍ददेवजी का दुपट्टा एवं प्रसाद की टोकरियां प्रदान कीं, अन्‍त में युवा जन सेवा संघ परिवार की ओर से पधारे भक्‍तजन को प्रसादी वितरित की गई। ।। जयश्रीराम ।।



श्रीआंजनेय के जन्‍मोत्‍सव पर 'दिव्‍य भजन संध्‍या, 2015'



सुन्‍दरकाण्‍ड पाठ श्रृंखला के इस रजत जयंती 25वें वर्ष में, श्रीहनुमान जयंती, शनिवार दिनांक 04 अप्रेल, 2015 को चंद्र ग्रहण सायं शुद्ध होने पर आरती हुई तथा विगत 24 वर्षों से चल रही प्रत्‍येक शनिवार सुन्‍दरकाण्‍ड पाठ की सतत श्रृंखला में 1276वां मनका पिरोया गया । श्रीआंजनेय के जन्‍मोत्‍सव पर अगले दिन रविवार 05 अप्रेल को सायं 7 बजे से 'दिव्‍य भजन संध्‍या' का आयोजन मंदिर प्रांगण में किया गया।
भजन संध्‍या के प्रारम्‍भ में श्रीगणेश वंदना के पश्‍चात् युवा जन सेवा संघ के सदस्‍यों द्वारा मारूतिनंदन की स्‍तुति 'जय-जय कपि नायक जन सुख दायक ... ' प्रस्‍तुत की गई। इसके पश्‍चात् आकाशवाणी जयपुर के विशेष आमंत्रित वरिष्‍ठ कलाकार श्री कमलकांत कौशिक तथा श्री बृजेश भार्गव ने अपने सुमधुर कंठ से भावपूर्ण भजनों की अमृत धारा में भक्‍तों को गोते लगवाये। सुविख्‍यात संगीतज्ञ गुरूदेव पं. आलोक भट्ट ने भी 'पवनसुत कौन दिशा से आयो ... ....' प्रस्‍तुत कर स्‍नेहिल आशीर्वाद प्रदान किया। 51 सुन्‍दर थालियों में 108 दीपों के साथ महाआरती के साथ भजन संध्‍या सम्‍पन्‍न हुई।
भजन संध्‍या में हमारे चहेते विधायक श्री सुरेन्‍द्रजी पारीक ने अपनी गरिमामयी उपस्थिति से सभी कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाया। विधायक महोदय के साथ पूर्व पार्षद श्रीमती उमा शर्मा जी एवं श्रीमती स्‍नेहलताजी भी उपस्थित थीं।
युवा जन सेवा संध के सभी सदस्‍यगण भी धन्‍यवाद के पात्र हैं जिनके सक्रिय सहयोग से यह विशाल आयोजन मूर्त रूप ले सका, आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्‍वास है आगे भी सभी भाईयों/ बहिनों का सहयोग इसी प्रकार मिलता रहेगा और भविष्‍य में इससे भी बढ़कर कार्यक्रम आप सभी के सहयोग से संभव हो सकेंगे। ।। जयश्रीराम ।।



पौषबड़ा महोत्‍सव एवं भक्तिरस सांस्‍कृतिक समारोह 2015

गुलाबी नगर जयपुर में पौष माह में प्रत्‍येक मंदिर में दाल के बड़ों एवं हलवा प्रसादी का भोग लगाया जाता है। युवा जन सेवा संघ द्वारा प्रत्‍येक वर्ष की भांति इस वर्ष शनिवार, दिनांक 03 जनवरी, 2015 को विशाल 'पौषबड़ा महोत्‍सव एवं भक्तिरस सांस्‍कृतिक समारोह का आयोजन मंदिर प्रांगण पर किया गया। महोत्‍सव में मुख्‍य अतिथि स्‍थानीय विधायक श्री सुरेन्‍द्र पारीक तथा विशिष्‍ट अतिथि पार्षद वार्ड नं.84 श्री सुरेन्‍द्र सिंह 'रॉबिन' थे।
प्रत्‍येक शनिवार को मंदिर प्रांगण में किये जाने वाले सुन्‍दरकाण्‍ड पाठ की सतत श्रंखलान्‍तर्गत प्रात: 9 बजे से श्रीसुन्‍दरकाण्‍डजी के संगीतमय पाठ हुए तथा सायंकाल को लगभग 5000 भक्‍तों हेतु पंगत प्रसादी के अतिरिक्‍त दोना प्रसादी का भी आयोजन किया गया। मंदिर में महावीर श्रीहनुमानजी का दिव्‍य श्रृंगार किया गया तथा सांस्‍कृति संध्‍या आयोजित की गई।
प्रथम पूज्‍य भगवान गणपति की वंदना से प्रारम्‍भ हुई संध्‍या में अनेकानेक विख्‍यात कलाकारों ने अपनी प्रस्‍तुतियां दीं। संस्‍था द्वारा वरिष्‍ठ लोक कलाकार श्री गोविन्‍द सिंहजी राठौड़ को 'लोक रत्‍न' तथा जाने-माने गायक दम्‍पति श्री गौरव जैन तथा श्रीमती दीपशिखा जैन को संयुक्‍त रूप से 'वाणी रत्‍न' सम्‍मान से विभाषित किया गया। लोक कलाकार श्री बंसी राणा से अपने दल के साथ लोक नृत्‍यों की आकर्षक प्रस्‍तुतियां दीं। संगीतज्ञ पं.आलोक भट्ट बांसुरी वादक श्री बाबूलाल तथा भजन गायिका अर्चना पचौरी जी को संस्‍था द्वारा स्‍मृति चिन्‍ह प्रदान किये गये तथा वरिष्‍ठ पत्रकार श्री इकबाल खां को शॉल ओढ़ाकर सम्‍मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन श्री राजेन्‍द्र शर्मा 'राजू' ने किया। अन्‍त में आयोजन सचिव श्री प्रदीप सिंह राजावत ने सभी का धन्‍यवाद ज्ञापित किया। ... ।। जयश्रीराम ।।





मंगलवार, 15 अप्रेल 2014 श्रीहनुमान जयन्‍ती पर्व हर्षोल्‍लास से मनाया



युवा जन सेवा संघ द्वारा छोटा अखाड़ा, ब्रह्मपुरी, जयपुर स्थित श्री वीर हनुमान मंदिर प्रांगण में श्री हनुमान जयन्‍ती एवं मंदिर जीर्णोद्धार यज्ञानुष्‍ठान महोत्‍सव का भव्‍य आयोजन मंगलवार दिनांक 15 अप्रेल, 2014 को सम्‍पन्‍न हुआ। इस हेतु एक माह पूर्व से ही तैयारियॉं प्रारम्‍भ कर दी गई थीं। युवा जन सेवा संघ एवं प्रत्‍येक शनिवार होने वाले सुन्‍दरकाण्‍ड पाठ की श्रृंखला से जुड़े सभी भक्‍तों ने इस परम पवित्र आयोजन में बढ़चढ़ कर भाग लिया।
प्रात: माउण्‍ट रोड़ स्थित श्री ब्रह्मराम मंदिर में आचार्य पं. श्री महेश शर्मा के नेतृत्‍व में 11 विद्वतगणों ने वैदिक मंत्रों से कलशों का पूजन सम्‍पन्‍न कराया। तत्‍पश्‍चात् 8 बजे लाल साड़ी में सुशोभित 221 महिलाओं ने कलश उठाये। कलश यात्रा मंगला मार्ग, सीताराम बाजार, ब्रह्मपुरी बस स्‍टेण्‍ड, गैटोर रोड़ होते हुए मंदिर परिसर पर आकर सम्‍पन्‍न हुई जहॉं आरती कर कलश यात्रा का स्‍वागत किया गया।
इसके पश्‍चात् यज्ञानुष्‍ठान प्रारम्‍भ हुआ जिसमें सभी भक्‍तगणों ने सपरिवार भाग लिया एवं यज्ञ की पवित्र अग्नि में आहुतियॉं दीं। पण्डित आचार्य श्री महेश शर्मा ने अपने सहयोगी विद्वानों के साथ संगीतमय मंत्रोच्‍चार कर यज्ञ सम्‍पन्‍न कराया। इसी क्रम में मंदिर शिखर पर नवीन कलश तथा मॉं पार्वती की नूतन प्रतिमा भी स्‍थापित की गई। सायं 4 बजे से संगीतमय सुन्‍दरकाण्‍ड पाठ प्रारम्‍भ हुआ जिसमें बड़ी संख्‍या में महिलाएं भी उपस्थित हुई। संध्‍या आरती पश्‍चात् प्रसाद वितरण एवं आमंत्रित जन की पंगत प्रसादी के साथ आयोजन सम्‍पन्‍न हुआ।

युवा जन सेवा संघ इस अभूतपूर्व आयोजन से जुड़े प्रत्‍येक भक्‍त को नमन करता है एवं आशा करता है भविष्‍य में भी इसी प्रकार आपश्री का सहयोग एवं स्‍नेहिल आशीर्वाद मिलता रहेगा। ... ।। जयश्रीराम ।।